Breaking News

मुख्यमंत्री द्वारा शहरी नौजवानों के लिए नया रोजग़ार सृजन प्रोग्राम शुरू करने का ऐलान

घर-घर रोजग़ार और कारोबार मिशन के अंतर्गत एक दिन में 1000 नौकरियों का लक्ष्य

जलंधर: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज उनकी सरकार द्वारा शहरी नौजवानों के लिए ‘मेरा काम, मेरा मान’ शीर्षक अधीन नया रोजग़ार उत्पत्ति प्रोग्राम शुरू करने का ऐलान किया जिससे काम के मान-सम्मान को यकीनी बनाया जा सके। आज यहाँ डी.ए.वी. यूनिवर्सिटी के कैंपस में चौथे रोजग़ार मेलों की समाप्ति के अवसर पर मुख्यमंत्री ने यह ऐलान किया। राज्य सरकार के प्रमुख प्रोग्राम ‘घर-घर रोजग़ार और कारोबार’ मिशन के अंतर्गत राज्य के सभी 22 जिलों में 10 दिन चले रोजग़ार मेलों के दौरान नौकरियाँ हासिल करने वाले नौजवानों में से 256 को नियुक्ति पत्र देते हुये बधाई दी। रोजग़ार मेलों के इस पड़ाव के दौरान सरकारी और प्राईवेट सैक्टरों में कुल 40517 नौजवानों को रोजग़ार हासिल हुआ।     राज्य स्तरीय रोजग़ार मेलों का विवरण देते हुये मुख्यमंत्री ने बताया कि इस मिशन के अंतर्गत सरकार द्वारा प्रतिदिन 808 नौजवानों को रोजग़ार मुहैया करवाने में सहयोग दिया गया है और जल्द ही यह संख्या बढक़र 1000 व्यक्ति प्रतिदिन हो जायेगी। इस मिशन का मकसद निर्धारित समय में हर परिवार के एक मैंबर को नौकरी मुहैया करवाना है और यह स्कीम निश्चित तौर पर घर-घर तक पहुँचेगी।     

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2017 के अगस्त -सितम्बर में पहले रोजग़ार मेले के दौरान सिफऱ् पाँच प्रतिशत रोजग़ार मुहैया हुआ था और कुल चाहवानों में से 19415 को नौकरियाँ मिली। वर्ष 2018 के दौरान फरवरी-मार्च में 11821 नौजवानों को रोजग़ार हासिल होने से यह दर 16 प्रतिशत रही। मुख्यमंत्री ने बताया कि तीसरे रोजग़ार मेले के दौरान यह दर बढक़र 21 प्रतिशत तक पहुँच गई और 18672 नौजवानों को रोजग़ार हासिल हुआ। आज के इस चौथे रोजग़ार मेले से रोजग़ार की दर 55 प्रतिशत तक पहुँच गई है। उन्होंने बताया कि 54 स्थानों पर लगे इन 10 दिवसीय रोजग़ार मेलों के दौरान कुल 1.13 लाख नौकरियों की पेशकश की और 41878 को रोजग़ार मिला जबकि 4370 चाहवानों को स्व -रोजग़ार के लिए सहयोग दिया गया। मुख्यमंत्री ने बताया कि घर-घर रोजग़ार के अंतर्गत कौशल विकास में और रोजग़ार के लिए गरीबों को ज्यादा प्राथमिकता दी जा रही है और इसी के अंतर्गत हरेक गाँव के कम-से-कम 10 गऱीब बेरोजग़ार नौजवानों को रोजग़ार देने के लिए एक अलग प्रयास शुरू किया गया है जिससे इस स्कीम का लाभ हर एक तक पहुँचना यकीनी बनाया जा सके। रोजग़ार सृजन विभाग, उसकी टीम और जि़ला स्तरीय रोजग़ार ब्यूरोज़ के यत्नों की श्लाघा करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि मार्च, 2017 से लेकर अब तक 5.76 लाख नौजवानों को प्राईवेट /सरकारी क्षेत्र या स्व-रोजग़ार के लिए रोजग़ार मुहैया करवाया गया है। इनमें से 40213 नौजवानों को सरकारी नौकरियाँ, 1.71 लाख को प्राईवेट और 3.65 लाख नौजवानों को स्व-रोजग़ार के लिए सहयोग दिया गया है।
      करतारपुर के विधायक चौधरी सुरिन्दर सिंह की तरफ से उनके हलके में पड़ते गाँव जंडू सिंघा में ज़मीन का बड़ा क्षेत्रफल होने के कारण यहाँ एक औद्योगिक यूनिट स्थापित करने की माँग को स्वीकार करते हुये मुख्यमंत्री ने उद्योग मंत्री को इस सम्बन्ध में अपेक्षित रूप रेखा बनाने के लिए कहा जिससे इस क्षेत्र में और औद्योगिक विकास को यकीनी बनाया जा सके।        

मुख्यमंत्री ने लुधियाना, पटियाला और संगरूर जिलों के जि़ला रोजग़ार अफसरों को ‘बेहतर कारगुज़ारी वाले अधिकारियों’ के तौर पर सम्मानित करते हुये उनकी सराहना की। इस मौके पर उन्होंने दूसरे जिलों के रोजग़ार अफसरों को भी बेरोजग़ार नौजवानों को नौकरियाँ देने में निर्धारित लक्ष्य हासिल करने का न्योता दिया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने हरेक जि़ले में जि़ला रोजग़ार और उद्यम ब्यूरो की स्थापना करके 21 नवंबर, 2018 को यह ब्यूरो लोगों को समर्पित कर दिए हैं। यह ब्यूरो इस समय पर कैरियर के लिए मार्ग दर्शन, कौंसलिंग, रोजग़ार के लिए सहायता, रजिस्ट्रेशन और इन्टरनेट सर्फिंग आदि के लिए नौजवानों के लिए कारगर साबित हो रहे हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि जी.जी.आर.के. पोर्टल भी विकसित किया गया है और लगभग 3.3 लाख नौजवान इस पोर्टल पर रजिस्टर्ड हो चुके हैं। इससे पहले रोजग़ार सृजन मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी ने हर क्षेत्र में राज्य को बुरी तरह पिछे धकेलने के लिए पिछली सरकार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार विधानसभा चुनाव के दौरान लोगों के साथ किये हुए सभी वायदों को पूरा कर रही है। उन्होंने कहा कि इससे पहले सरकार ने किसानों का 2-2 लाख रुपए तक का कजऱ् माफ किया है और अब घर-घर रोजग़ार मिशन के अंतर्गत रोजग़ार मुहैया करवाने का बीड़ा उठाया है।   

कैबिनेट मंत्री ने बताया कि राज्य सरकार ने श्री चमकौर साहिब में श्री गुरु गोबिन्द सिंह कौशल विकास यूनिवर्सिटी की स्थापना के लिए पंजाब तकनीकी यूनिवर्सिटी को ज़मीन तबदील कर दी है। इसके अलावा सुलतानपुर लोधी और पंजाब तकनीकी यूनिवर्सिटी में स्किल सैंटर स्थापित करने के लिए 312 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।     इस मौके पर उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा, मुख्यमंत्री के सीनियर सलाहकार लैफ्टिनैंट जनरल (सेवा -मुक्त) टी.एस. शेरगिल, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल, संसद मैंबर चौधरी संतोख सिंह, विधायक प्रगट सिंह, चौधरी सुरिन्दर सिंह, हरदेव सिंह लाडी और राज कुमार चब्बेवाल के अलावा पुडूचेरी के पूर्व लैफ्टिनैंट गवर्नर इकबाल सिंह, नगर सुधार ट्रस्ट जालंधर के पूर्व चेयरमैन तेजिन्दर सिंह बिट्टू, पंजाब कांग्रेस के जनरल सचिव चौधरी विक्रमजीत सिंह, तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण के प्रमुख सचिव डी.के. तिवाड़ी, घर -घर रोजग़ार मिशन के डायरैक्टर राहुल तिवाड़ी, कमिशनर बी. पुरशारथा और डिप्टी कमिश्नर वरिन्दर कुमार शर्मा के अलावा ओ.एस.डी.मुख्यमंत्री पंजाब गुरप्रीत सिंह सोनू ढेसी, अमृत खोसला, राजिन्दरपाल सिंह राणा रंधावा, बलदेव सिंह देव, सुखविन्दर सिंह लाली, अश्विन भल्ला और अन्य शामिल थे।

66 comments

  1. This information is invaluable. Where can I find out more?

  2. Thankfulness to my father who stated to me regarding this blog,
    this webpage is truly amazing.

  3. I like reading a post that can make men and women think.
    Also, thanks for allowing me to comment!

  4. I like what you guys are up too. This kind of clever work and coverage!
    Keep up the wonderful works guys I’ve included you guys to my personal blogroll.

  5. It’s perfect time to make some plans for the future and it is time
    to be happy. I’ve read this post and if I could I desire to suggest you few
    interesting things or tips. Perhaps you can write
    next articles referring to this article. I want to read more things about it!

  6. You really make it seem so easy with your presentation but I in finding
    this matter to be actually one thing that I think I
    would by no means understand. It seems too complex and very huge
    for me. I’m having a look forward on your subsequent post, I
    will attempt to get the hold of it!

  7. Wir biеten in Deutschland, Österreich und der Schweiz absolut alle Führerѕcheinklassen an, von Zweirädern der Kⅼasse A biѕs zuu Unterkategorien deг Klasse D für Ρеrsonenkraftwagen, einschließlich der Unterkategorien B und C für Light Vehicles
    unnd Trucks. Ꮤeitere Informationen zuu Führerscheinklassen finden Sie unter.Führersϲhein kaufen ohne prüfung http://fuhrerschein-und-dokumente.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Online Shopping
Scroll To Top