Breaking News

मोदी द्वारा वोटरों को भ्रमित करने के लिए शहीदों का प्रयोग करना शर्मनाक -कैप्टन अमरिन्दर सिंह

कल्याण केसरी न्यूज़ चंडीगढ़ :    शहीद सैनिकों और सशस्त्र बलों का राजनैतिक लाभ हेतु प्रयोग करने की नरेन्द्र मोदी की शर्मनाक कोशिश पर दुख प्रकट करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कांग्रेस के अधीन शान्ति और ख़ुशहाली का नया युग शुरू करने के लिए विभाजनकारी सांप्रदायिक शक्तियां, भाजपा और अकाली दल को सत्ता से बाहर करने का लोगों को न्योता दिया है।    आज यहाँ कांग्रेस के एक विशाल जलसे को संबोधन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे सभ्यक समाज में सांप्रदायिक आधार पर लोगों को बाँटने वाली शक्तियों की कोई जगह नहीं है। इस अवसरपर मुख्यमंत्री ने उनको सुनने आए आम लोगों के सामने स्पष्ट और तीखे विचार प्रकट किये। जालंधर से कांग्रेस के उम्मीदवार संतोष चौधरी और होशियारपुर से कांग्रेसी उम्मीदवार राज कुमार चब्बेवाल ने गुरुद्वारा श्री गंगसर साहिब के नज़दीक इस मैदान में मुख्यमंत्री का स्वागत किया।    कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि जब मोदी पुलवामा के शहीदों या बालाकोट हवाई हमलों के नाम पर वोटरों को वोटों की अपील करता है तो यह सुनकर उनका ख़ून बुरी तरह खैलता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का व्यवहार घृणाजनक है। उन्होंने कहा कि भारत के सैनिक रोज़मर्रा की ड्यूटी के दौरान ही मारे जा रहे हैं जो कि मोदी के सैनिक नहीं हैं। उन्होंने कहा कि मोदी अपने राजनैतिक लाभ के लिए बहादुर सैनिकों के बलिदान का प्रयोग कर रहा है।    मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस मीडीया पर मोदी कंट्रोल कर रहा है वह प्रधानमंत्री की बोली ही बोल रहा है। उन्होंने कहा कि लोग सब देख रहे हैं और जो हवा इस समय चल रही है वह मोदी और भाजपा को उड़ाकर ले जायेगी। उन्होंने भरोसा प्रकट किया कि इन चुनावों के दौरान लोग भाजपा को सबक सिखाएँगे और कांग्रेस बड़ी जीत हासिल करेगी।    बेअदबी के मामलों तथा बहबल कलाँ और बरगाड़ी में पुलिस गोलीबारी की घटनाओं के सम्बन्ध में अकालियों पर बरसते मुख्यमंत्री ने चेतावनी देते हुए कहा कि विशेष जांच टीम की जांच से बचने की कोशिशों में अकाली सफल नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि इससे सम्बन्धित अफ़सर को बादलों ने तबदील कराया है और मतदान ख़त्म होने के बाद वह फिर एस.आई.टी. में आ जायेगा और बेअदबी और हत्याओँ के जिम्मेदारों को सज़ा यकीनी बनाई जायेगी।   

मुख्यमंत्री ने कहा कि जबसे उन्होंने सत्ता संभाली है तबसे बेअदबी की एक भी प्रमुख घटना नहीं घटी जिससे पता लगता है कि इन मामलों के पीछे कौन था। उन्होंने कहा कि अकालियों ने अपने बनाए ज़ोरा सिंह कमीशन और रणजीत सिंह कमीशन की जांच को न मानकर न्याय से किनारा किया है परन्तु वह लोगों को बाँटने के मुद्दे पर अपने मिशन में सफल नहीं होंगे। इन कारणों से वह सिख भाईचारे का समर्थन प्राप्त नहीं कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि एस.आई.टी. की तरफ से मामलों की जांच की जा रही है और इस जांच में पाए जाने वाले किसी भी दोषी को बख़्शा नहीं जायेगा और उसे कानून का सामना करना पड़ेगा।    कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि लोग अपने बच्चों के बढिय़ा भविष्य को यकीनी बनाने के लिए शान्ति चाहते हैं और यह शान्ति सूबे के विकास और उद्योग को आकर्षित करने के लिए ज़रूरी है। इसके साथ ही सूबे की प्रगति हो सकती है और नौजवानों के लिए नौकरियाँ पैदा की जा सकतीं हैं।    पंजाब के बच्चों के भविष्य को सुरक्षित बनाने के लिए उनकी सरकार की तरफ से की गई कोशिशों का जि़क्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि घर -घर रोजग़ार स्कीम अधीन रोज़मर्रा की नौकरियाँ देने का लक्ष्य एक हज़ार तक पहुँच गया है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार नौजवानों को विदेशों में जाने से रोकने के लिए उनके लिए नौकरियाँ यकीनी बनाऐगी।    श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के संदर्भ में करतारपुर की महत्ता का जि़क्र करते हुए मुख्यमंत्री ने उम्मीद प्रकट की कि करतारपुर कॉरिडॉर समय पर तैयार हो जायेगा जिससे सरहद पार जाकर लोग इस ऐतिहासिक गुरूद्वारे में नतमस्तक हो सकेंगे। सुलतानपुर लोधी के विकास के लिए मोदी की तरफ से कोई भी मदद न करने के लिए तीखी आलोचना करते हुए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री ने इस सम्बन्धी कुछ मीटिंगें की हैं परन्तु उन्होंने योजना बारे विचार करने के लिए केवल बादलों को ही न्योता दिया है।    

अपनी, गलत नीतियों से उद्योग और किसानों के लिए समस्याएँ खड़ी करने के लिए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने मोदी सरकार पर दोष लगाया। उन्होंने नोटबन्दी, जी.एस.टी. लागू करने और एम.एस. स्वामीनाथन कमीशन की सिफ़ारशें लागू न करने के लिए मोदी सरकार की तीखी आलोचना की। उन्होंने कहा कि इन गलत नीतियों का केंद्र सरकार को हिसाब देना पड़ेगा जिसके थोड़े ही दिन बाकी रह गए हैं और उसके बाद देश का भविष्य संवारने के लिए कांग्रेस सत्ता में आ जायेगी।    बाद में लोगों में से किये गए एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि बेअदबी और पुलिस गोलीबारी में शामिल दोषियों को माफ नहीं किया जायेगा। उनको सज़ा से बचाने के लिए बादलों के साथ किसी भी तरह के सम्बन्ध होने को रद्द करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस सम्बन्ध में किसी को भी खुला घूमने की इजाज़त नहीं दी जायेगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वह राजनैतिक बदलाखोरी के मामलों में अकालियों की तरह निचले स्तर तक नहीं जाएंगे। लोगों को बाँटने की कोशिश करने या सूबे की आर्थिकता को बुरी तरह बर्बाद करने के जि़म्मेदार लोगों को अपने कुशासन के लिए हिसाब देना पड़ेगा।    एक अन्य सवाल के जवाब में कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि वित्तीय मुश्किलों और 31,000 करोड़ रुपए का हद कजऱ् उनकी सरकार को अपने सभी वादे लागू करने के लिए रोक रहा है परन्तु उन्होंने कहा कि अभी भी यह वादे पूरे करने के लिए तीन साल बाकी हैं। उन्होंने कहा कि नौजवानों को मतदान के जल्द बाद उनकी सरकार की तरफ से स्मार्ट फ़ोन देने का वादा पूरा किया जायेगा। इसलिए ज़रुरी 10.5 लाख फोनों में से 3.5 लाख फोनों की पहली किश्त का ऑर्डर दिया जा चुका है।    सिफऱ् अकालियों के खेती कजऱ्े माफ करने के दोषों को रद्द करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस सम्बन्धी पूरे मापदंड तैयार किये गए थे। इस स्कीम अधीन 10.25 लाख छोटे और दर्मियाने किसानों के साथ-साथ भूमि रहित खेत मज़दूरों को भी लाया गया है। सिफऱ् गरीब किसानों के ही कजऱ्े माफ किये गए हैं चाहे उनका किसी के साथ भी राजनैतिक सम्बन्ध हो।    मक्का के एम.एस.पी. के सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वामीनाथन कमीशन की रिपोर्ट लागू करना ही इस समस्या का हल है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पहले ही वादा किया है कि कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद किसान समर्थकी कदम उठाए जाएंगे।    कुछ स्थानों पर ग़ैर -कानूनी खनन के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थिति को स्थिर करने के लिए खानों की नये सिरे से बोली जल्दी ही की जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top