Breaking News

85 प्रतिशत गेहूँ की उठाई से जालंधर राज्य भर में अग्रणी ज़िला बना – घनश्याम थोरी

कल्याण केसरी न्यूज़ जालंधर, 07 मई 2021: ज़िले में ख़रीदी गई गेहूँ में से 85 फीसद की उठाई करने और 1000 करोड़ की किसानों को अदायगी करके जालंधर राज्य भर में अग्रणी ज़िला बन कर उभरा है। इस सम्बन्धित जानकारी देते हुए डिप्टी कमिश्नर जालंधर घनश्याम थोरी ने बताया कि अलग अलग ख़रीद एजेंसियों की तरफ से अब तक ख़रीदी गई 576989 मीट्रिक टन गेहूँ में से 478953 मीट्रिक टन गेहूँ की उठाई की जा चुकी है। उन्होनें कहा कि ज़िला प्रशासन की तरफ से जहाँ गेहूँ की ख़रीद करके उठाई की गई है वहीं किसानों को अब तक 1000.10 करोड़ रुपए की अदायगी करवाने की तरफ भी विशेष ध्यान दिया गया है ,जो कि 91 प्रतिशत बनता है।
डिप्टी कमिश्नर ने आगे कहा कि किसानों की फ़सल के दाने -दाने की खरीद और लिफ्टिंग को सुनिश्चित करने के लिए सभी सम्बन्धित विभागों ने इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए मिल कर काम किया। उन्होंने यह भी बताया कि सभी 137 खरीद केन्द्रों में व्यापक प्रबंध किये गए, जिससे मंडियों में विशेष तौर पर कोरोना वायरस महामारी दौरान किसानों को अपनी फ़सल बेचने पर किसी प्रकार की मुश्किल का सामना न करना पड़े। उन्होनें बताया कि अनाज मंडियों में किसानों के लिए विशेष पास, सैनेटाईज़ेशन, मास्क की बाँट से ले कर टीकाकरण या आर.टी. -पी.सी.आर. टेस्टिंग तक कोविड सम्बन्धित उचित व्यवहार को सही तरीके के साथ अपनाया गया।
ज़िला ख़ुराक और सिविल स्पलाईज़ कंट्रोलर नरिन्दर सिंह ने आगे बताया कि 172676 मीट्रिक टन गेहूँ की खरीद करते पनग्रेन की तरफ से जिले में सबसे अधिक खरीद की गई है, इसके बाद मारकफैड, पनसप, पंजाब स्टेट वेयर हाऊस और एफ सी आई की तरफ से क्रमवार 160077, 120925, 75352 और 47818 मीट्रिक टन गेहूँ की खरीद की गई है। उन्होनें बताया कि फ़सल की तुरंत लिफ्टिंग को यकीनी बनाने के लिए अनाज मंडियों में अपेक्षित मात्रा में बारदाना उपलब्ध करवाया गया है। उन्होनें कहा कि ज़िला प्रशान की तरफ से इस खरीद को निर्विघ्न और उचित बनाने के लिए कोई कमी बाकी नहीं छोड़ी गई।

Comments are closed.

Online Shopping
Scroll To Top