Breaking News

केंद्र अड़ियल व्यवहार छोड़ कर किसानों के साथ बातचीत करे: संत ज्ञानी हरनाम सिंह खालसा

कल्याण केसरी न्यूज़ महता चौक / अमृतसर 19 जून : दमदमी टकसाल दे प्रमुख और संत समाज दे प्रधान संत ग्यानी हरनाम सिंह खालसा ने कहा कि मोदी सरकार को किसानों प्रति अड़ियल व्यवहार त्यागते किसान मसलों दे स्थायी हल के लिए किसान नेता की तुरंत मीटिंग बुलवाना चाहिए।दमदमी टकसाल के हैड क्वार्टर में दमदमी टकसाल के प्रमुख के साथ मुलाकात करन आए संत बाबा जसपाल सिंह खटिया साहब कारसेवा चमरंग रोड और फैडरेशन के पूर्व नेता भाई इकबाल सिंह तुंग के साथ किसानी मामलों पर गहरी विचारों की। इस बारे पिरो: सरचांद सिंह की तरफ से दी जानकारी में दमदमी टकसाल के प्रमुख नें बाबा जसपाल सिंह की तरफ से किसानी संघरश की फतहयाबी के लिए श्री गुरु ग्रंथ साहब जी की सहज पाठों की लड़ी आरंभ करते गुरू साहब का ओट आसरा लेने की शलाघा की।उन्होंने अफ़सोस प्रकट करते कहा कि खेती बारे काले कानूनों को रद्द करन प्रति किसानों की माँग पर केंद्र सरकार की तरफ से सारथिक स्वीकृति नहीं भरा जा रहा।खेती कानूनों को रद्द करवाने के लिए पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर परदेस के बड़ी संख्या में किसान पिछले 7महीनों से दिल्ली की सरहदों पर विरोध प्रदरशन करन के लिए मजबूर हैं |उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने खेती कानूनों को लागू करन पर अगले आदेशें तक रोक लगाई हुई है फिर भी केंद्र सरकार को बातचीत में आई रुकावट को तोड़द्यें किसानी मसले के स्थायी हल के लिए प्रदरशन कर रहे किसान संगठनों के साथ फिर से बातचीत करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि खेती कानूनों के लागू होने साथ मंडियों और कम से -कम समर्थन मूल्य की व्यवस्था समाप्त हो जाने के किसानों के अंदेशे दूर किये जाने चाहिएं। संत ज्ञानी हरनाम सिंह खालसा ने समाज के हरेक वर्ग को केंद्रीय खेती कानूनों के विरुद्ध लड़ाई लड़ रहे संघरशशील किसानों के साथ इक्कजुट्टता का दिखावा करन, काले कानूनों ख़िलाफ़ आवाज़ बुलंद करते केंद्र सरकार का डट कर विरोध करन और किसान मोर्चो में हिस्सा बन कर किसानों के साथ कंधो के साथ कंधा जोड़ कर आंदोलन को मज़बूती प्रदान करन की अपील की है। उन्होंने कहा कि सिक्ख गुरू साहिबान की शिक्षा हमें हक सत्य और अधिकारों के लिए लड़ने के लिए प्रेरदे हैं। उन्होंने कहा कि सिक्ख पंथ ने देश की आज़ादी के लिए बड़ी बलियों की हैं। किसान माँगों की पूर्ति के लिए दमदमी टकसाल किसानों के साथ खड़ी है। किसानी को बचाने के लिए हर संभव कोशिश की जायेगी।उन्होंने किसानों को संयम में रह कर संघरश जारी रखने की अपील की। इस मौके पिरो: सरचांद सिंह भी मौजूद थे।

Comments are closed.

Online Shopping
Scroll To Top