Monday , 20 September 2021
Breaking News

पत्रकार भाईचारे ने केंद्र सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

कल्याण केसरी न्यूज़ जालंधर, 22 जुलाई : पेगासस स्पायवेयर सॉफ्टवेयर के जरिए सच्चायी की आवाज उठाने वाले रोजाना पहिरेदार के एडीटर -इन -चीफ जसपाल सिंह हेरें का मोबायल फोन टेप करने के विरोध में राष्ट्रपति के नाम से माननीय उपायुक्त जालंधर घनश्याम थोरी को ज्ञापन सौंपा गया। सभी पत्रकार संगठनों के प्रतिनिधि आज सुबह उपायुक्त कार्यालय के सामने बड़ी संख्या में एकत्र हुए। रोजाना पहरेदार के दोआबा जोन के ब्यूरो चीफ अमृतपाल सिंह ने कहा की लोकतंत्र में प्रेस को चौथे स्तंभ के रूप में जाना जाता है। इसे भारत का सबसे प्रभावशाली और शक्तिशाली स्वतंत्र मीडिया माना जाता है।

उन्होंने कहा की जसपाल सिंह हेरें ने अपनी कलम से सिद्धांतक और विचारधारक सोच को बलपूर्वक पेश किया, इसके लिए वह बधायी के पात्र हैं। उन्होंने कहा की पेगासस के जरिए जासूसी करने का कृत्य बेहद निंदनीय है। उन्होंने इस मामले को देश के लोगों की निजी अधिकार और प्रेस की आजादी पर हमला बताया। इस मौके पर पेमा के वरिष्ठ सदस्य रमेश नायर, हरीश शर्मा, स्वदेश नंचहल, रवि गिल, अमनदीप सिंह जंगी, मैडम कीर्ति गिल, प्रवेश गिल, अभिनंदन भारती, पंजाब प्रेस क्लब एवं डीएमए के कई सदस्य, प्रेस एसोसिएशन ऑफ स्टेट के कई सदस्य, वर्किंग रिपोर्टर्स एसोसिएशन के सदस्य, जिनमें कर्मवीर सिंह के अलावा सौरभ खन्ना, जगरूप सिंह, दलबीर सिंह, रमेश भगत, इकबाल सिंह उभी, दीपक शर्मा और अन्य वरिष्ठ पत्रकार मौजूद थे। सुखजीत सिंह द्रोली, जिला अध्यक्ष, शिरोमनि अकाली दल (अमृतसर), जालंधर, मंजीत सिंह रेरू (शहरी अध्यक्ष), दर्शन सिंह, कलकत्ता के वरिष्ठ उपाध्यक्ष, मंजीत सिंह विर्दी और गुरजीत सिंह ने समर्थन किया। पत्रकारों ने पेगासस मामले की जांच करवाने की मांग रखी है।

Comments are closed.

Online Shopping
Scroll To Top