Saturday , 16 October 2021
Breaking News

त्रिपुरा रिलीफ फंड के लिए 28,300 रुपए कामरेड सेखों को भेंट किये गए

कल्याण केसरी न्यूज़ जलंधर, 18 सितम्बर: सी.पी.आई. ( ऐम.) ज़िला जालंधर – कपूरथला के पुराने ज़िला सचिवालय की बधाई हुई मीटिंग यहाँ भाई रत्न सिंह यादगारी ट्रस्ट बिलडिंग जालंधर में हुई जिस की अध्यक्षीय मास्टर मूल चंद सरहाली की तरफ से गई।

आरंभ में सी.पी.आई. ( ऐम.) के बिछड़े नेताओं केंद्रीय समिति मैंबर और त्रिपुरा में पार्टी के सूबा सचिव कामरेड गौतम दास और गुरदासपुर ज़िला समिति मैंबर कामरेड अवतार सिंह कामगार और किसान संघर्ष में शहीद होने वाले सात सौ से अधिक किसानों को मौन धारण करके श्रद्धाँजलि भेंट की गई।

इस मौके और मीटिंग को संबोधन करते हुए सी.पी.आई. ( ऐम.) के पंजाब सूबा सचिव कामरेड सुखविन्दर सिंह सेखों ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चे की तरफ से किसान संघर्ष को ओर ऊँची बुलन्दियें और ले कर जाने के लिए 27 सितम्बर को भारत बंद किया जा रहा है। भारत बंद एक बार फिर यह साबित कर देगा कि पंजाब की धरती से उठा इतिहास सृजन कर रहा किसान संघर्ष अब सभी भारत का संघर्ष बन चुका है। कामरेड सेखों ने यह भी कहा कि यह संघर्ष अब केवल तीन काले कानूनों को रद्द करवाने का संघर्ष ही नहीं रह गया बल्कि यह देश में से हिंदु राष्ट्रवादी सांप्रदायक मोदी सरकार को गद्दी से हटाने के लिए’बी.जे.पी. को हरायो’संघर्ष का रूप धारण कर चुका है। कामरेड सेखों ने पंजाब की समुच्चय पार्टी को 27 सितम्बर के भारत बंद को सफल बनाने के लिए दिन रात एक कर देने का न्योता दिया।

ज़िला सचिव और सूबा सचिवालय मैंबर कामरेड लहम्बर सिंह तग्गड़ ने मीटिंग में हुए फ़ैसलों बारे जानकारी देते हुए कहा कि ज़िला जालंधर – कपूरथला की समुच्चय पार्टी पहले ही 27 सितम्बर के भारत बंद को लामिसाल तौर और सफल करन के लिए जुटी हुई है। पार्टी के प्रभाव वाली लाल झंडे का नेतृत्व नीचे काम करन वाली जनतक जत्थेबंदियाँ पंजाब किसान सभा, कुल हिंद खेत मज़दूर यूनियन और सीटू के समूह साथी दोनों जिलों की सभी तहसीलों में बंद की सफलता के लिए डटी हुई हैं।

कामरेड तग्गड़ ने बताया कि 27 सितम्बर को प्रातःकाल प्रातःकाल बंद को सफल बनाने के बाद सभी तहसीलों में लाल झंडे का नेतृत्व में सड़कें जाम की जाएंगी और गुस्सा भरे मार्च किये जाएंगे। मीटिंग में एक संकल्प के पास करके त्रिपुरा प्रांत में बी.जे.पी. आर.ऐस्स.ऐस्स. सरकार की तरफ से त्रिपुरा के चार बार मुख्य मंत्री रहे कामरेड मानक सरकार और ओर सैंकड़े नेताओं और पार्टी दफ्तरों, गाड़ीयाँ और कामरेडों के घरों और हमले करन और आगें लाने की सख़्त निषिद्धता करते हुए त्रिपुरा की पार्टी और लोगों के साथ एकजुटता का दिखावा भी किया गया।

संकल्प में कहा गया कि त्रिपुरा के लोगों और पार्टी को ऐसे हमलों के साथ दबाया नहीं जा सकता। मीटिंग में कामरेड सेखों की तरफ से पार्टी का पोलिट ब्यूरो के बुलाऐ अनुसार त्रिपुरा की पार्टी और इन घृणित हमलों का शिकार हुए साथियों की सहायता के लिए फंड एकत्रित करन की की गई अपील का स्वीकृति भरते उपस्थित साथियों की तरफ से मौके और ही 28,300 रुपए एकत्रित हो गए जो मौके और ही साथी सेखों को भेंट कर दिए गए। मीटिंग में दूसरे के इलावा कामरेड प्रशोतम बिलगा, वरिन्दरपाल सिंह काला, केवल सिंह हज़ारा, प्रकाश कलेर, शीतल सिंह संघ, गुरपरमजीत कौर तग्गड़, जसकरन सिंह कंग, युवराज सिंह, मेहर सिंह खुरलापुर, वी.वी. एंथनी, बलदेव सिंह सुलतानपुर, राम मूर्ति सिंह, गुरमीत सिंह गौंसूवाल भी शामल थे।

Comments are closed.

Online Shopping
Scroll To Top